SEO Friendly Blog कैसे लिखें – हिंदी में पूरी जानकारी

हम यहां पर जानेंगे कि SEO Friendly Blog Kaise Likhe क्योंकि ब्लॉग तो लगभग सभी बना लेते हैं थीम कस्टमाइजेशन भी कर लेते हैं पेजेस भी बना लेते हैं लेकिन ब्लॉग लिखने की कला भी हमें आने चाहिए।

जब हम एक seo-friendly एवं user-friendly blog post लिखना सीख जाएंगे तभी हमारे Blog पर Traffic आएगा एवं तभी हमारे ब्लॉग को लोग पढ़ेंगे एवं गूगल भी इसे सर्च इंजन में ऊपर लाएगा और फिर हम ब्लॉगिंग के क्षेत्र में सफल हो पाएंगे।

Blog Kaise Likhe

यहां पर हम अपने blog post के लिए keyword research करना एवं उन कीवर्ड को अपने ब्लॉग पोस्ट में प्लेसमेंट करना सीखेंगे एवं साथ ही Title, Tag, Description और फीचर इमेज किस तरीके का रहेगा ये भी जानेंगे।

और साथ ही हम ये भी जानेंगे की इंटरलिंकिंग या आउट बाउंड लिंक कैसे करना है किस तरीके के साइट को अपने पोस्ट में लिंक देना है क्योंकि ये भी बहुत जरूरी होता है एक seo-friendly blog post के लिए।

Loading...

Blog Likhne Ka Tarika

blog लिखने से पहले हमें कीवर्ड रिसर्च करना होता है उदाहरण के लिए मैं एक ब्लॉग लिखने वाला हूं “Blog Kaise Likhe” तो मैं इस कीवर्ड को किसी भी keyword research tool में डालकर इससे जुड़ी और भी कीवर्ड इकट्ठा कर लूंगा।

अब इन सभी कीवर्ड में से जो हमें ज्यादा आकर्षित कीवर्ड लग रहा है उसे टाइटल में रखूंगा फिर दुसरे कीवर्ड को परमा लिंक में डालूंगा और बाकी के ब्लॉग लिखते समय आर्टिकल में मेंशन करुंगा।

अगर आपके पास कोई keyword research tool नहीं है तो आप गूगल में भी कीवर्ड रिसर्च कर सकते हैं उदाहरण के लिए Blog Kaise Likhe इस कीवर्ड को आप गूगल में डालकर सर्च करेंगे और सबसे नीचे चले जाएंगे तो इससे जुड़ी और भी बहुत सारे कीवर्ड आपको दिखेंगे।

आप मेरे इस पोस्ट को देखकर भी समझ सकते हैं कि मैंने Title, permalink या slug और आर्टिकल में कौन-कौन से कीवर्ड डाले हैं।

Loading...

ये भी पढ़ें
Blog को Google Analytics से Connect कैसे करें
Google People Cards खुद को गूगल में ऐड करें | add me to search

Tag

आपने जो कीवर्ड रिसर्च करके इकट्ठा किया था उनमें से कुछ की वर्ड को tag वाले सेक्शन में डालेंगे टैग में आप चार से पांच कीवर्ड डाल सकते हैं इससे ज्यादा नहीं डालना चाहिए।

Description

Loading...

डिस्क्रिप्शन में आप अपने आर्टिकल के शुरुआती का एक से डेढ़ लाइन कॉपी करके डाल सकते हैं या फिर आप अलग से अपने आर्टिकल के बारे में लिख सकते हैं कि आपका आर्टिकल में क्या है।

ध्यान रहे डिस्क्रिप्शन में कम से कम आपका एक मेन कीवर्ड जरूर आना चाहिए ये डिस्क्रिप्शन जब कोई गूगल में किसी विषय को सर्च करता है और जितने भी परिणाम दिखते हैं तो उसी में दिखाई देता है।

long tail keyword

अगर आपका blog अभी नया है तो अपना कीवर्ड को long-tail keywords बनाना चाहिए यानी कीवर्ड में आगे या पीछे उसी से जुड़ी कुछ और कीवर्ड डालकर लंबा कर देना चाहिए इससे वह सर्च इंजन में जल्दी rank करता है।

उदाहरण के लिए मेरा कीवर्ड है Blog Kaise Likhe तो मैं इसमें आगे और पीछे कुछ और ऐड करके इसे लंबा करूंगा जैसे seo friendly blog kaise likhe hindi और इस long-tail कीवर्ड को परमा लिंक या slug में डालेंगे।

ये भी पढ़ें
Photo Resize Online कैसे करें | फोटो का साइज कम करना
Copyright Free Images कहा से Download करें?

Focus Keywords

Focus Keywords में हमें short tail कीवर्ड ही डालना चाहिए उदाहरण के लिए मेरा कीवर्ड है Blog Kaise Likhe तो मैं इसको long-tail कीवर्ड बनाकर परमा लिंक में डालूंगा और इस कीवर्ड में आगे कुछ और आकर्षित चीजें लिखकर टाइटल में डालूंगा और बिना कुछ जोड़े सिर्फ इसी लाइन को फोकस कीवर्ड में डाल दूंगा।

आपका मेन की वर्ड focus keywords में होता है और वो कीवर्ड परमा लिंक से लेकर टाइटल टैग डिस्क्रिप्शन और आर्टिकल में होने चाहिए इसके अलावा इससे जुड़ी जो भी कीवर्ड आपने रिसर्च किया है वो भी आपके आर्टिकल और टैग में डालना चाहिए।

अगर आपका ब्लॉग WordPress पर है और आप yoast seo plugin या rank math seo प्लगइन का इस्तेमाल करते हैं तो उसमें फोकस कीवर्ड डालने का ऑप्शन होता है।

Loading...

लेकिन अगर आपका ब्लॉग blogger पर है तो वहां पर कोई प्लगइन नहीं होता है फिर आपको अपने से ही कीवर्ड का प्लेसमेंट करना होता है।

ब्लॉगर में भी आपका मेन कीवर्ड परमा लिंक टाइटल डिस्क्रिप्शन एवं आर्टिकल में होना चाहिए लेकिन परमा लिंक में डालते समय आप उसमे कुछ और जोड़कर long-tail कीवर्ड बना सकते हैं।

टाइटल में आपका मेन कीवर्ड शुरुआती में ही होना चाहिए फिर बाद में आप कुछ और आकर्षित बातें लिख सकते हैं आप का टाइटल और डिस्क्रिप्शन ही सर्च इंजन में दिखता है तो इसे इस तरीके से लिखें ताकि लोगों को समझ आ जाए कि आपके पोस्ट में क्या बताया गया है।

Blog Title

Title को हमें आकर्षित बनाना होता है क्योंकि अगर आपका पोस्ट search engine में rank कर जाता है और कोई भी उस कीवर्ड को सर्च करता है तो आपके उस पोस्ट के टाइटल और डिस्क्रिप्शन दो ही चीज सर्च इंजन में दिखाइ देते हैं।

तो हमें अपने title को seo-friendly भी बनाना है और user-friendly भी एस इ ओ फ्रेंडली का मतलब आप का मेन कीवर्ड टाइटल में आना चाहिए और user-friendly का मतलब की टाइटल ऐसा दिखे जिससे यूजर को लगे कि इस पोस्ट में उसके सवाल का जवाब मिल जाएगा।

उदाहरण के लिए मेरा मेन कीवर्ड है Blog Kaise Likhe तो मैं इस टाइटल में आगे के तरफ और शब्द जोड़ दुंगा जैसे “हिंदी में संपूर्ण जानकारी” तो ये टाइटल यूजर को आकर्षित करेगा।

Blog Heading

टाइटल लिखने के बाद दो तीन लाइन अपने पोस्ट के बारे में लिखना होता है फिर पहला heading h2 में दिया जाता है अगर आपका आर्टिकल 1500 शब्दों से ऊपर का है तो आप एक h2 हेडिंग और एक h3 heading मेन कीवर्ड का बना सकते हैं।

बाकी के h4,h5 या h6 में दूसरे दूसरे कीवर्ड डाल सकते हैं कम शब्दों वाला आर्टिकल में मेन कीवर्ड वाला heading एक से ज्यादा ना रखें।

Blog Post में पैराग्राफ

अपने आर्टिकल में हर 2 से 3 लाइन के बाद पैराग्राफ चेंज करते रहें एक ही पैराग्राफ में बहुत ज्यादा शब्द ना लिखें ये यूजर के लिए भी ठीक नहीं होता है और SEO के हिसाब से भी नेगेटिव होता है।

आर्टिकल में शब्दों के हिसाब से कीवर्ड का प्लेसमेंट करें अगर आपका आर्टिकल 1000 शब्दों का है तो आप इसमें ज्यादा से ज्यादा पांच कीवर्ड डाल सकते हैं।

अगर आप बहुत ज्यादा keywords डालते हैं तो गूगल इसे कीवर्ड स्टाफिंग में डाल देगा और आपका पोस्ट रैंक करने लायक होगा तो भी सर्च इंजन से बाहर हो जाएगा।

आर्टिकल के पहले पैराग्राफ में आपका मेन कीवर्ड जरूर होना चाहिए बाकी के आर्टिकल में एक दूरी के हिसाब से कीवर्ड डालते चले जाएं लास्ट वाले पैराग्राफ में भी keywords का होना जरूरी होता है।

आर्टिकल में कीवर्ड को इस तरीके से लिखें ताकि देखने से ऐसा न लगे कि जबरदस्ती डाला गया है बल्कि वो अन्य शब्दों के साथ घुल मिल जाए इस तरीके से लिखें।

अगर आप हिंदी ब्लॉग लिख रहे हैं तो भी कीवर्ड को इंग्लिश में ही लिखें तो ज्यादा बेहतर होता है आप चाहें तो हिंदी इंग्लिश और हिंग्लिश मिक्स करके लिख सकते हैं जैसे “blog कैसे लिखें” या “Blog Kaise Likhe” इत्यादि।

ये भी पढ़ें
Bluehost Best Web Hosting – जानिए क्या है खास
High Quality Backlinks कैसे बनाएं?

Blog के लिए Feature Image

आपका ब्लॉग blogger पर हो या WordPress पर इसमें आर्टिकल से संबंधित एक feature image डिजाइन करके जरूर डालें वर्डप्रेस में फीचर इमेज डालने के लिए अलग से ऑप्शन होता है लेकिन ब्लॉगर में आप ऊपर h2 हेडिंग के नीचे जो इमेज डालेंगे वही फीचर इमेज बन जाता है।

feature image सर्च इंजन में टाइटल और डिस्क्रिप्शन के साथ में सो होता है इसलिए भी यह जरूरी होता है साथ ही इमेज की साइज भी कम से कम रखें ताकि आपके ब्लॉग की लोडिंग स्पीड भी बनी रहे।

इमेज खुद से डिजाइन करें या अपने कैमरे से क्लिक करके उसे एडिट करें दूसरों का इमेज यूज ना करें और कहीं से भी डाउनलोड करके यूज में ना लें।

कुछ वेबसाइट है जैसे Pixabay या Pexels इन वेबसाइट पर जाकर आप फ्री इमेज डाउनलोड करके इसे कमर्शियल यूज़ के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

यहां से download की हुई image को आप एडिट करके उस पर अपने blog post से संबंधित बातें लिखकर और आकर्षित बना सकते हैं लेकिन कंप्रेस करके फाइल की साइज को छोटा से छोटा करने की कोशिश करें।

Blog Post में Interlinking

आप अपने ब्लॉग पोस्ट को उसी कैटेगरी के अन्य पोस्ट के साथ में लिंकिंग जरूर करें इससे फायदा ये होगा कि अगर आपके एक पोस्ट पर विजिटर आएंगे तो उस link पर क्लिक करके दूसरे पोस्ट पर भी जाएंगे।

और गूगल के crawler के लिए भी आपके सभी पेजेस को crawl करना आसान होता है इसलिए भी यह जरूरी होता है और कोशिश यही करें कि उसी कैटेगरी के अन्य पोस्ट को अपने इस पोस्ट में लिंक दें।

Blog Post में Outbound Link

आप अपने सभी पोस्ट में कम से कम एक Outbound Link यानी बड़ारी लिंक जरूर दें ये आपके seo को इंप्रूव करता है और गूगल को भी पॉजिटिव संदेश जाता है।

लेकिन ध्यान रहे Outbound Link किसी high authority site को ही दें स्पैमिंग साइट को ना देवे नहीं तो यह फायदे के जगह नुकसान ही करेगा।

blog post publish करने के बाद इसके url को google search console में इंडेक्स होने के लिए जरूर डालें और हर दूसरे या तीसरे दिन पोस्ट डालते रहें आप चाहें तो रोज भी एक पोस्ट अपने ब्लॉग पर डाल सकते हैं।

एक नियम बना ले हैं कि हर दूसरे या तीसरे या चौथे दिन आपको पोस्ट डालना ही है तो इससे गूगल का crawler भी समय से आपके साइट पर आता है और आपके पेजेस को crawl करता है।

और ऐसे में आपके पेजेस जल्दी से जल्दी इंडेक्स होते हैं अगर आप नियम से पोस्ट डाल रहे हैं तो पोस्ट डालने के कुछ ही मिनट बाद गूगल में इंडेक्स हो जाया करेगा।

अब हम Blog Kaise Likhe के अंतिम भाग social sharing के बारे में जानेंगे और ये भी हमारे ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन में लाने में काफी मददगार होता है।

Social Sharing

ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करने के बाद इसे इंडेक्स हो जाने दे फिर जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके इसको शेयर करें शेयर करने के लिए आप कुछ प्लेटफार्म को चुन सकते हैं जैसे Facebook, whatsapp, instagram, linkdin, sharechat, इत्यादि।

अगर आपका youtube channel है तो आप अपने ब्लॉग से जुड़े वीडियो बना सकते हैं और उस वीडियो के डिस्क्रिप्शन में ब्लॉग पोस्ट के लिंक देकर अपने सब्सक्राइबर को विजिट करने के लिए भी बोल सकते हैं।

जब आप अपने blog post को पब्लिश करते हैं फिर वो इंडेक्स होता है और उस पर विजिटर आते हैं चाहे वो विजिटर सोशल शेयरिंग से आवे डायरेक्ट आवे या फिर सर्च इंजन से और जब वो आपके पोस्ट पर ज्यादा से ज्यादा देर तक रुकते हैं तो गूगल को यह संदेश जाता है कि आपका पोस्ट नॉलेजेबल है।

और फिर गूगल आपके pages को search engine में ऊपर लाना शुरू करता है तो इसके लिए यह भी जरूरी है कि आप अपने पोस्ट को इस तरीके से लिखें ताकि विजिटर ज्यादा से ज्यादा आपके पेजेस पर रुके एवं इंटरलिंकिंग के द्वारा एक से दूसरे पेज पर जाएं।

इसके विपरीत अगर आपके पेज पर विजिटर आ रहे हैं लेकिन ज्यादा देर नहीं रुक रहे हैं तो फिर गूगल को नेगेटिव संदेश जाता है और आपके पेज सर्च इंजन में नीचे की तरफ चला जाता है।

इसलिए पोस्ट को शेयर तभी करें जब आपको पता हो कि आपने क्वालिटी कंटेंट लिखा है ऐसा पोस्ट लिखा है जिससे आने वाले विजिटर को फायदा होए उनके सवालों का जवाब मिले।

बोलकर लिखने का तरीका

अगर आप अपने मोबाइल में अपना ब्लॉग लिखते हैं तो आप सेटिंग्स में जाकर लैंग्वेज में जाएंगे और फिर Google Voice Typing को एनेबल कर देंगे।

तो इससे होगा ये कि जब आप लिखने के लिए कीबोर्ड ओपन किया करेंगे तो आपके कीबोर्ड में ऊपर दाहिने साइड में एक माइक का आइकन होगा जिसके ऊपर टैप करते ही आप जो भी बोलेंगे वो अपने आप लिखते जाएगा।

एक पैराग्राफ लिखने के बाद उसको चेक करें क्योंकि बोलकर लिखने में कभी-कभी कुछ गलतियां हो जाती है उसको सुधारें फिर अगला पैराग्राफ लिखें।

लिखने के लिए आप google docs का इस्तेमाल कर सकते हैं मैं इसे पिछले 2 साल से यूज कर रहा हूं अपना ब्लॉग लिखने के लिए। जब आप इसे ओपन करेंगे तो एक नया पेज खोलकर उसमें जो भी लिखेंगे और लिखते ही वो अपने आप सेव हो जाया करेगा।

पूरा आर्टिकल लिख लेने के बाद ऊपर चेक जरूर करें कि सेव हो गया है या नहीं फिर आप जिस ईमेल से अपने मोबाइल में google docs को साइन इन किए थे उसी ईमेल से किसी भी डिवाइस में गूगल डॉक को जैसे साइन इन करेंगे वैसे आपका वह आर्टिकल आपके सामने आ जाएगा।

फिर आप अपने उस आर्टिकल को कॉपी करके अपने ब्लॉग मे पेस्ट कर सकते हैं google docs को आप अपने कंप्यूटर में भी एक्सेस कर सकते हैं कंप्यूटर में भी बोल कर लिखने की तरीका होता है।

और अंत में

हमने यहां पर Blog Kaise Likhe के लगभग सभी पहलुओं पर बात कर लिया है ब्लॉगिंग करना काफी कठिन काम होता है लेकिन अगर आप इस क्षेत्र में सफल हो जाते हैं तो ढेर सारे पैसे के साथ ही नाम भी कमाते हैं।

हमारी सदा यही कोशिश होती है कि इस साइट पर जो भी विजिटर आए उनको संपूर्ण ज्ञान मिले और आपके प्रश्नों का उत्तर सटीक मिले जिससे आपको कहीं और ना जाना पड़े।

इस पोस्ट में हमने सीखा Blog Likhne Ka Tarika आप अपने ब्लॉग हिंदी में लिखते हैं या इंग्लिश में या फिर किसी और भाषा में ऊपर बताए गए नियम सभी भाषाओं पर लागू होता है।

अगर आपके पास इस पोस्ट Blog Kaise Likhe से जुड़ी किसी भी तरह के सवाल या सुझाव अभी भी हैं तो नीचे कमेंट में हमें जरूर बताएं।

3 thoughts on “SEO Friendly Blog कैसे लिखें – हिंदी में पूरी जानकारी”

  1. Yadi Kisi Blog me adsense approve hai to kya us Blog ka App bana sakte hai usme ads aayege to kya adsense me koi problem hoga

    Reply

Leave a Comment