Blog पर Traffic कैसे लाये | 15 Working Methods

आपका blog blogger पर हो या WordPress पर यहां पर हम traffic लाने के लिए कुछ कारगर और वैध तरीकों के बारे में बात करेंगे blog par traffic kaise laye जिसे फॉलो करके आपको कुछ समय तो लग सकता है लेकिन आपके वेबसाइट पर सौ परसेंट organic traffic आएगा।

blog पर traffic लाने का काम blog के निर्माण के साथ ही शुरू हो जाता है। आपको domain टॉप लेवल का लेना होता है जैसे .com .in .org इत्यादि।

Blog पर Traffic कैसे लाये | 15 Working Methods

आपका domain name Keyword से रिलेटेड होने चाहिए और छोटा से छोटा होना चाहिए। छोटा डोमन seo friendly होता है।

blogger vs WordPress –बहुत से लोगों के समझ में ये नहीं आता है कि blogger पर blog बनाएं या फिर WordPress पे।

Loading...

 तो मेरा सजेशन ये रहेगा कि अगर आपके पास थोड़ा बजट है तो आप शुरू से ही WordPress के साथ जाइए।

ये भी पढ़े:- Quora partner program से पैसे कैसे कमायें

क्योंकि blogger पर गूगल का सिक्योरिटी तो तगड़ा होता है आपके blog को कोई भी hack नहीं कर सकता है लेकिन यहां पर पोस्ट को rank कराने में बहुत ज्यादा मेहनत लगता है।

और अगर आपका blogger पे blog monetize भी हो जाता है तो बार-बार एड क्लिक होने की वजह से monetization disable होने का भी खतरा बना रहता है।

Loading...

वहीं दूसरी तरफ वर्डप्रेस पर आप प्लगइन के द्वारा यह सेट कर सकते हैं कि एक यूजर आपके एड पर कितनी बार क्लिक करेगा तो यहां पर आपके monetization invalid click में disable होने का खतरा नहीं होता है।

WordPress पर हमें keywords डालने के लिए बहुत सारे ऑप्शन होते हैं हम अलग से प्लगइन इंस्टॉल कर के भी on page seo अच्छा तरीके से कर पाते हैं जिससे हमारा पोस्ट जल्दी rank करता है।

how to increase blog traffic wordpress & blogger

अगर आप blogger से शुरुआत करते हैं और आगे चलकर blogger to WordPress पर switch करते है तो ऐसे में आपको बहुत सारी परेशानियां आने वाली है।

 इसलिए मैं आपको एक बार और सजेस्ट करना चाहूंगा कि आप थोड़ा बजट लगाकर शुरू से ही WordPress के साथ ही जाइए।

Loading...

hosting provider कुछ लोग free hosting के पीछे भागते हैं लेकिन आगे चलकर उनको काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर आपको नहीं पता है की वेब होस्टिंग क्या है तो यहाँ पर एक गाइड है Web Hosting Kya Hai कहा से ख़रीदे जानिए विस्तार से

free hosting तो आप फ्री में यूज कर लेते हैं लेकिन जब आपके साइट पर ट्रैफिक आना शुरू होता है तो आपके free hosting काम करना बंद कर देती है और बैकअप के लिए भी वो आपसे मोटा तगड़ा चार्ज मांगते हैं।

ये भी पढ़े:- Youtube से पैसे कैसे कमाए

इसलिए मैं आपको यही सजेस्ट करूंगा कि आप एक अच्छा कंपनी का होस्टिंग इस्तेमाल करिए। Bluehost या hostgator का hosting मेरे हिसाब से ठीक होता है।

blog par traffic kaise laye

niche/topic – अक्सर हम high cpc और high searches वाला keywords चुनते हैं, लेकिन हम ये ध्यान नहीं देते हैं कि उस टॉपिक पर हमारे पास नॉलेज है या नहीं।

CPC High और searches high वाला कीवर्ड जरूर चुनिए लेकिन आप जो लिखने जा रहे हैं उस से रिलेटेड कीवर्ड चुनिए भले ही उसका CPC और searches लो हो।

blog theam – नेट में बहुत से theme free होते हैं और बहुत से paid होते हैं लेकिन बहुत से लोग paid वाले theme को फ्री मे इस्तेमाल करने के लिए बहुत सारे जुगार लगाते फिरते हैं।

लेकिन मैं आपको यही सजेस्ट करूंगा कि ऐसे जुगार के चक्कर में मत पड़ीये। अगर WordPress यूज कर रहे हैं तो आपको WordPress पर ही बहुत सारे free themes मिल जाएगा, उसका इस्तेमाल करिए।

Loading...

 blogger पर भी आपको बहुत सारे फ्री थीम मिलेगा।

blog par traffic kaise laye

paid theme को तिकड़म लगाकर फ्री में युज न करीये वो unsafe होता है आपकी website कभी भी hack हो सकती है।

seo basic seting – जब आप पहली बार blog बना रहे हैं तभी आपका seo का सेटिंग शुरू हो जाता है blog बनाते समय आपको अपना blog का स्ट्रक्चर सही ढंग से तैयार करना होता है।

जैसे कैटेगरी, लेबल होम पेज यूआरएल को किस तरीके से रखना है, वर्डप्रेस पर है तो seo plugin को पहली बार में ही सही ढंग से सेटिंग कर लेना है।

अपना blogger या WordPress की बेसिक सेटिंग से रिलेटेड आप यूट्यूब पर वीडियो भी देख सकते हैं।

loading speed – आपके theme ऐसे यूज करना है जिसकी Loading speed अच्छी हो, SEO friendly हो mobile friendly हो।

क्योंकि जब यूजर आपके site पर आएगा और काफी ज्यादा टाइम लगेगा आपके site load होने में तो फिर वो दोबारा नहीं आना चाहेगा।

ये भी पढ़े:- नौकरी करते हुए ADVANCE PF निकालना सीखे

blog par traffic kaise laye

और ऐसे में गूगल भी आपके site को पीछे कर देगा इसलिए आपकी site की loading speed अच्छी खासी होनी चाहिए।

अच्छा थीम होने के बावजूद भी बहुत ज्यादा अनाप-शनाप plugin युज करने से भी loading speed धिमा हो जाता है।

जितना plugin की जरूरत हो उतना ही यूज़ करिए।

regular post update – आपको अपने blog पर रोज एक पोस्ट डालना होता है या तो आप 2 दिन में भी एक डाल सकते हैं इससे आपके विवर को आपके पोस्ट का इंतजार रहता है

और रेगुलर पोस्ट डालने से गूगल भी आपके साइट पर ध्यान देता है।

इसलिए पोस्ट को रैंक कराने के लिए कीवर्ड रिसर्च के साथ ही रेगुलर पोस्ट डालना भी जरूरी है।

seo friendly post – seo friendly पोस्ट का मतलब हुआ की पोस्ट का on page seo तो करना ही है साथ ही इसका भी ध्यान रखना है कि आपके पोस्ट में क्या बताया गया है।

पोस्ट का seo करने के चक्कर में ऐसा ना हो कि पोस्ट का मतलब ही बदल जाए।

write high quality content – अपने पोस्ट को गूगल में रैंक कराने के लिए high quality containt का होना बहुत जरूरी होता है, content में किन किन चीजों पर ध्यान देना है वो आप नीचे पढ़िए।

1 परमालिंक- आपके post का title और heading में parmalink का मेंनशन होना जरूरी है, जैसे आपने पोस्ट का title रखा seo-friendly पोस्ट कैसे लिखें तो इसका parmalink होगा seo friendly post

blog par traffic kaise laye – how to increase blog traffic fast

उस parmalink को अपने पोस्ट के अंदर कई बार मेंशन करिए।

WordPress पर title डिफॉल्ट रूप से h1 में होता है, इसलिए पहला हेडिंग को h2 में रखीये उसके बाद सब हेडिंग h3 फिर h4

blogger में heading, sub heading, miner heading  इस तरीके से डालते जाएंगे।

heading और sub heading  बहुत ज्यादा नहीं डालना है पोस्ट के लंबाई के अनुसार ही डालना है। और ठीक है ऐसे ही keywords भी पोस्ट की लंबाई के अनुसार ही डाला जाता है।

अगर आप WordPress पर हैं तो SEO plugin आपको बताएगा कि कितना हेडिंग डालना है और कितना कीवर्ड डालना है।

paragraph – हर दो या तीन लाइन के बाद paragraph चेंज करते जाइए।

बहुत से लोग 1000 से 1500 वर्ड वाले पोस्ट में दो से तीन paragraph रखते हैं ये गलत है।

content length – आपको अपने आर्टिकल की लंबाई ज्यादा से ज्यादा रखने हैं ऐसे में ज्यादा से ज्यादा heading और ज्यादा से ज्यादा keywords मेंशन हो पाते हैं जिससे आपके पोस्ट गूगल में जल्दी रैंक करता है।

लंबा article बनाने के चक्कर में अनाप-शनाप नहीं लिखना है वही चीजें लिखना है जो काम की हो और लोग उससे उबे नहीं बल्कि पढ़ते जाए।

on page seo – on page seo का मतलब होता है article लिखते समय seo करना और off page seo का मतलब होता है article लिखने के बाद social media accounts पर शेयर करना।

blog par traffic kaise laye – increase blog followers

high quality का Backlinks ट्रस्टेड वेबसाइटों पर बनाना। social media sharing जैसे Facebook, WhatsApp, LinkedIn इत्यादि

article लिखने के पहले ही आपको high quality का keywords research कर लेना है उन keywords को title heading और article के अंदर मेंशन करते जाना है।

on page seo में article के अंदर keywords का प्लेसमेंट करन, page का अच्छा से डिजाइन, इमेज ऑप्टिमाइजेशन, मेटा टैग मेटा डिस्क्रिप्शन मे कीवर्ड डालना इत्यादि होता है।

आपके पोस्ट में आए हुए comments का reply करना दूसरे किसी website पर भी जाकर पोस्ट को पढ़ना एवं कमेंट करना होता है।

आपके पुराने पोस्ट को भी समय-समय पर update करते रहना चाहिए। ये जरूरी नहीं है कि जिस टॉपिक को आज से 6 महीना पहले या 1 साल पहले सर्च किया जा रहा था वो आज भी सर्च किया जा रहा हो।

इसलिए पुराने पोस्ट को update करके keywords का प्लेसमेंट करते रहना चाहिए।

ऊपर बताए हुए blog par traffic kaise laye बातों को नियम से फॉलो करेंगे तो मुझे पूरा उम्मीद है कि आपके साइट पर भर भर के ट्रैफिक आएगा और वो भी ऑर्गेनिक। धन्यवाद

35 thoughts on “Blog पर Traffic कैसे लाये | 15 Working Methods”

    • अगर आपका साइट वर्डप्रेस पर है तो कुछ ऐसे प्लगिंस है जिनका इस्तेमाल करने पर आप जैसे अपने साइट पर आर्टिकल डालेंगी वैसे अपने आप जितने भी सोशल मीडिया अकाउंट उस प्लगइन में ऐड किए हैं उन पर शेयर हो जाएगा और अगर आपका ब्लॉग ब्लॉगर पर है तो फिर खुद से शेयर करना पड़ेगा

      Reply
  1. बहुत-बहुत धन्यवाद भैया जी

    सादर सहृदय_/_प्रणाम भैया जी।
    जय जय श्री राधेकृष्णा।

    “समर्पण का एक संकल्प बदल सकती है आपके मन और जीवन की दशा और दिशा”
    क्यों कि जिसे भगवद् शरण मिल जाए
    उसका जीवन सर्वब्यापी परमात्मा के द्वारा आरछित-सुरछित हो जाता है
    अनहोनी से बचाव और होनी में मंगल छिपा होता है।
    तथा मायापति की माया से भी अभयता मिलती है
    क्यों कि माया का मूल स्वरूप हमारे मन में स्थित भावनाऐं है
    जिन्हें हम भवसागर कहते हैं
    भगवद कृपाओं से हमें इसमें तैरना आ जाता है
    जिसके कारण हमारा मन विपरीत विषम् परिस्थितियों में भी शान्ति,प्रेम, और आनन्दमयी रहना सीख लेता है।

    “हमारे व हमारे अपनों के जीवन के लिए अति कल्याणकारी और महत्वपूर्ण, सद्गुण प्रदायिनी,भवतार
    िणी,शान्ति, भक्ति(प्रेम) और मोछप्रदायिनी भावना(प्रार्थना)”
    (जिसे स्वयँ के साथ बच्चों से भी किसी शुद्ध स्थान अथवा शिवलिँग पर कम से कम एक बार तो एक लोटा जल चढ़ाते हुए अवश्य करेँ और करवाऐँ) –
    1 .”हे जगतपिता”, “हे जगदीश्वर” ये जीवन आपको सौँपता हूँ
    इस जीवन नैया की पतवार अब आप ही सँभालिए।
    2 .”हे करूणासागर” मैँ जैसा भी हूँ खोटा-खरा अब आपके ही शरण मेँ हूँ नाथ,
    मेरे लिए क्या अच्छा है क्या बुरा , अब सब आपकी जिम्मेदारी है।”
    शरणागति का अर्थ है – “अपने मन का अहँ-अहँकार ,अपनी समस्त कामनाऐँ भी परमात्मा के श्री चरणोँ मे अर्पण कर देना
    अर्थात
    अपने जीवन की बागडोर परमात्मा को सौँप देना
    अतः
    समर्पण की प्रार्थना निष्पछ भाव से ही करेँ
    प्रभु जी रिश्ते भी निभातेँ है यदि पूर्ण श्रद्धा और विश्वास हो तो गुरू का भी।
    इस पोस्ट को प्रर्दशन ना समझेँ
    ये मेरे अनुभवोँ और भागवद गीता का सार है
    जिसे भगवद प्रेरणा से ही जनसेवार्थ बाँट रहा हूँ।
    ☆समर्पण की प्रार्थना कम से कम एक बार एक लोटा या एक अंजलि जल अर्पण करते हुए अवश्य करें ।
    एसा करने से हमारा परमात्मा के प्रति समर्पण का सँकल्प हो जाता है
    जो कि निश्चय ही फलदायिनी सिद्ध होती है ।☆
    साथ ही
    ये पूर्ण विश्वास रखें कि अब आपकी जीवन नैइया प्रभु जी के हाथों में है
    वो जो भी करेंगे
    उससे बेहतर आपके जीवन के लिए कुछ और नही हो सकता ।
    _/_
    ।।जय श्री हरि।।

    Reply
  2. बहुत शानदार इंफॉर्मेशन दी है सर…

    थैंक्स….
    हमारे साथ शेयर करने के लिए।

    Reply
  3. Thanks for sharing this important post related to traffic on blog. This post clears each and every aspect of social media diversions of traffic towards website. I have learnt many things from this article.
    You may also like jobs and govt related order to know. Know all about it.

    Reply
  4. बहुत ही अच्छे से आपने बताया है। आपके सलाह के लिए धन्यवाद।

    Reply
  5. You are absolutely unique. It’s just because of your personality is totally different from the writers.
    Allah swt has endowed you uniquely writing style.
    The meal doesn’t have good taste if the chef cook is not really different from other chef cooks.
    On top of that what makes the meal different is the ingredients.
    Thank you so much for sharing your amazing tips in writing skills.

    Reply

Leave a Comment