Fake Shopping Website से कैसे बचें

त्योहारों के मौसम आते ही Fake Shopping Website के द्वारा लाखों लोग ठगे जाते हैं क्योंकि त्योहारों के समय लगभग सभी ई-कॉमर्स साइट अपने प्रोडक्ट पर कुछ ना कुछ डिस्काउंट देते हैं और इसी के आड़ में कुछ फेक वेबसाइट लोगों को ठगना शुरू कर देते हैं।

लगभग सभी त्योहारों में ऑनलाइन फ्रॉड के जरिए कुछ अपराधी डिस्काउंट के लालच देकर हजारों लोगों को ठग लेते हैं क्योंकि जब भी कोई त्यौहार आता है तो लगभग सभी ऑनलाइन सामान बेचने वाली वेबसाइट अपने प्रोडक्ट पर कुछ न कुछ छूट या डिस्काउंट देते हैं।

और इसी का फायदा उठाते हुए ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले अपराधी अपने फेक वेबसाइट पर डिस्काउंट का लालच देकर लोगों को लूटना शुरू कर देते हैं।

त्यौहार का मौसम आते ही सभी लोगों का नजर डिस्काउंट वाला प्रोडक्ट के तरफ जाता है और बहुत से ई-कॉमर्स साइट अपने प्रोडक्ट पर कुछ ना कुछ डिस्काउंट भी देते हैं।

Loading...

लेकिन इसी बीच कुछ ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले अपराधी अपना Fake Shopping Website बनाकर भारी डिस्काउंट दिखाते हुए लोगों को ठगना शुरू कर देते हैं।

जब भी कोई त्यौहार आता है तो ऑनलाइन सामान बेचने वाली साइट अपने रुके हुए बहुत सारे प्रोडक्ट को निकालने के लिए उस पर कुछ ना कुछ डिस्काउंट कर देते हैं और अपना करोड़ों रुपए के प्रोडक्ट को त्योहारों के मौके पर बेच पाते हैं।

लेकिन क्या आपको पता है कि इसी बीच बहुत से साइबर अपराधी या ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले लोग भी Fake Shopping Website बनाकर डिस्काउंट का लालच देकर हजारों लोगों को लूट लेते हैं।

Fake Shopping Website से कैसे बचें

अभी कुछ ही दिन पहले एक Fake Shopping Website जिसका नाम है wellbuymall डॉट कॉम इस साइट पर साइबर अपराधियों ने एक एक प्रोडक्ट पर 50 से लेकर 80% तक का डिस्काउंट डाल के लोगों को अपने झांसे में फंसा कर करोड़ों रुपए लूट लिए।

Loading...

इन Fake Shopping Website को चलाने वाले लोग अपने वेबसाइट को फेसबुक, इंस्टाग्राम या ट्विटर जैसे सोशल प्लेटफॉर्म पर एड या विज्ञापन चलाकर प्रमोट करते हैं और इन प्लेटफार्म से जुड़े लोगों को अपने झांसे में फंसाते हैं।

ज्यादातर लोग फेसबुक एवं इंस्टाग्राम पर चल रहे विज्ञापन पर विश्वास कर लेते हैं और उस विज्ञापन पर क्लिक करके उन फर्जी साइट पर चले जाते हैं और फिर सस्ता सामान खरीदने के चक्कर में अपना पैसा गंवा बैठते हैं।

Fake Shopping Website को चलाने वाले साइबर अपराधी अपने प्रोडक्ट का अच्छा सा विज्ञापन Facebook, इंस्टाग्राम पर बनाते हैं और उस में भारी छूट दिखाया जाता है।

उस छूट या डिस्काउंट के लालच में लोग चल रहे विज्ञापन के लिंक पर क्लिक करके उन फेक वेबसाइट पर चले जाते हैं और फिर उस प्रोडक्ट को बुक करने के लिए पेमेंट तक कर देते हैं।

Loading...

पेमेंट करने के बाद प्रोडक्ट की डिलीवरी के लिए लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं लेकिन उनको ये नहीं पता कि वो एक फेक वेबसाइट पर साइबर अपराधी के शिकार हो चुके हैं तो फिर उनके पास प्रोडक्ट आएगा कहां से।

जो लोग ऐसे फेक वेबसाइट के शिकार हो जाते हैं वो ये समझते हैं कि उन्होंने बहुत ही सस्ता सामान ऑर्डर कर लिया है लेकिन फिर बाद में उनको पता चलता है कि वो फेक वेबसाइट थी और उनका पैसा भी डूब गया।

Fake Shopping Website से बचने का तरीका

अगर आप भी भारी छूट या डिस्काउंट के लालच में किसी अनजाने साइट पर जाकर शॉपिंग करते हैं तो फिर सावधान हो जाएं क्योंकि छुट के चक्कर में आपका अपना पैसा भी डूब सकता है।

Fake Shopping Website से बचने के लिए आप नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • 1. ऑनलाइन शॉपिंग के लिए आप ऑथेंटिक ई-कॉमर्स वेबसाइट को ही चुने जैसे Amazon, Flipkart, Meesho, Patanjali Order Me App इत्यादि।
  • 2. किसी भी नए रेंडम पोर्टल पे भरोसा ना करें पहले उसके बारे में अच्छी तरह से रिसर्च करें।
  • 3. अगर बहुत ज्यादा डिस्काउंट दिखाया जा रहा है जैसे 70 या 80 परसेंट का डिस्काउंट तो फिर ऐसे में आप तुरंत सावधान हो जाए।
  • 4. किसी भी नए Shopping Website जाते समय उसका यूआरएल में https जरूर चेक करें।
  • 5. बिना SSL Certificate वाले वेबसाइट को ट्रेस करना साइबर क्राइम से निपटने वाले अधिकारियों के लिए मुश्किल होता है इसलिए SSL जरूर चेक करें।
  • 6. नई साइट पर शॉपिंग करते समय अगर आपको कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन नहीं मिल रहा है तो आप सतर्क हो जाएं और उस साइट के बारे में थोड़ा रिसर्च जरूर करें।
  • 7. Fake Shopping Website पे रिव्यू और कॉमेंट का सेक्शन बंद होता है वहां पर पहले से ही अच्छे-अच्छे रिव्यू सेट किए गए होते हैं ग्राहकों को लुभाने के लिए, ऐसे वेबसाइट से सावधान रहें।
  • 8. किसी भी नए Shopping Website पर Contact us या About us का पेज ना मिले तो आप सावधान हो जाएं क्योंकि वो नकली वेबसाइट हो सकती है।
  • 9. किसी भी शॉपिंग साइट से आया हुआ प्रोडक्ट को अनबॉक्स करते समय एक वीडियो जरूर बनाएं ताकि आप कंज्यूमर फोरम या साइबर फ्रॉड में उस वीडियो के जरिए उस साइट का शिकायत कर सकें।

वैसे त्योहारों के मौसम में ई-कॉमर्स या शॉपिंग वेबसाइट से मिल रहे प्रोडक्ट के ऊपर डिस्काउंट को लेने में कोई बुराई नहीं है लेकिन साथ ही हमें उन साइबर अपराधियों से भी बचना होता है जो हमारा पूरा पैसा लूटने के चक्कर में बैठे रहते हैं।

Banking Fraud से कैसे बचें

कइ बार हम Online Banking Fraud के चक्कर में फस जाते हैं और अपने बैंक में जमा सभी पैसे गवा देते हैं।

मैं आपको एक महिला की कहानी सुनाता हूं उन्होंने अपने बैंक से जुड़ी जानकारी लेने के लिए इंटरनेट पर उस बैंक के कस्टमर केयर का नंबर निकाला और फिर कॉल करके बातचीत शुरू की।

उस महिला ने कस्टमर के साथ कॉल के दौरान अपना बैंक खाते से जुड़ी बहुत सारी जानकारी उस अधिकारी को बताई और फिर कुछ ही देर बाद उनके बैंक अकाउंट में जमा सभी पैसा गायब हो गया।

Loading...

क्या आपको पता है ऐसा क्यों हुआ क्योंकि उन्होंने इंटरनेट से उस बैंक का जो कस्टमर केयर का नंबर लिया था वो नंबर उस बैंक का था ही नहीं बल्कि साइबर अपराधियों का वो नंबर था और वो महिला साइबर ठगी का शिकार हो चुकी थी।

Banking Fraud से बचने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

1. कभी भी आप अपने बैंक के कस्टमर केयर का नंबर लेने के लिए उसी बैंक के ऑफिशियल साइट पर जाएं क्योंकि वहीं पर आपको उस बैंक का ओरिजिनल कस्टमर केयर नंबर मिलेगा।

2. बाहर से आए हुए कॉल पर आप पूरी तरह से विश्वास ना करें क्योंकि वो कॉल हो सकता है कि कोई बैंक अधिकारी ने किया हो या ये भी हो सकता है कि कोई साइबर अपराधी ने किया हो।

3. कई बार साइबर अपराधी इंटरनेट के जरिए हमारे कुछ डिटेल्स पता कर लेते हैं और फिर हमारे पास कॉल करके उस डिटेल्स को बताकर हमारा विश्वास जीतने की कोशिश करते हैं।

और वो बोलते हैं कि वो बैंक अधिकारी हैं लेकिन जैसे कि मैंने ऊपर बताया बाहर से आए हुए कॉल पर आप पूरी तरह से कभी भी विश्वास ना करें, बल्कि उस कॉल को वहीं पर कट कर दें और खुद से उस बैंक में कॉल करके उस कॉल के बारे में जानकारी लें।

4. बैंक के कस्टमर अधिकारी कभी भी आपसे OTP,CVV, पिन या पासवर्ड नहीं मांगते हैं अगर कोई ये सब जानकारी मांग रहा है तो आप तुरंत चौकन्ना हो जाए।

5. जिस मोबाइल में आप इंटरनेट बैंकिंग चला रहे हो उस मोबाइल में अनाप-शनाप ऐप इंस्टॉल ना करें और व्हाट्सएप या फेसबुक पर आए हुए अनावश्यक लिंक पर क्लिक न करें।

6. अपना इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के पिन या पासवर्ड को हर एक महीने बाद चेंज करते रहें।

7. इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के पासवर्ड को 8 या इससे ज्यादा करेक्टर्स के बनाएं, और अपने पासवर्ड में नंबर्स, लेटर्स एवं स्पेशल करैक्टर का मिलाजुला होना चाहिए क्योंकि ऐसे में आपका पासवर्ड काफी मजबूत बनता है।

8. आप जिस मोबाइल में इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग चला रहे हैं उसमें पैटर्न लॉक या पासवर्ड लॉक जरूर लगा कर रखें।

9. आपके बैंक में रजिस्टर मोबाइल नंबर खो जाने पर उस नंबर को तुरंत ही बंद करा दें और दूसरा सिम निकलवाए क्योंकि उस नंबर के जरिए कोई भी आपके साथ फ्रॉड कर सकता है।

ऑनलाइन ठगों से बचने के लिए रिसर्च करें और जानकारी इकट्ठा करते रहे लेकिन अगर आपके साथ में ऑनलाइन ठगी हो भी जाती है तो आप इसके लिए कंज्यूमर फोरम या साइबर विभाग में Online शिकायत कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें
Top 5 Hindi Web Series

15 GB बड़ी फाइल ऑनलाइन कैसे भेजें

Airtel Ka Malik Kaun Hai

और अंत में

ज्यादातर लोग ढेर सारा डिस्काउंट के चक्कर में भी ठगे जाते हैं जिस भी नए साइट पर आपको बहुत बड़े-बड़े डिस्काउंट दिखे तो ऐसे साइट से सदा सावधान रहें क्योंकि आपका पूरा का पूरा पैसा डूब सकता है।

हमने यहां पर सीखा की Fake Shopping Website से कैसे बचें, हमें उम्मीद है इस पोस्ट से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा अगर अभी भी आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा है तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बताएं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!