अपने लैपटॉप को खराब होने से बचाएं बस इन बातों पर रखें ध्यान

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि हमारा लैपटॉप खराब क्यों होता है स्लो क्यों हो जाता है इसका परफॉर्मेंस धीरे-धीरे कम क्यों होने लगती है और इन सभी समस्याओं से अपनी लैपटॉप को कैसे बचाएं ताकि ये बार-बार खराब ना हो और इसकी गति स्लो ना पड़े।

हमारे बहुत से पाठकों का एक प्रश्न लगातार रहा है कि उनका लैपटॉप बार-बार खराब हो जाता है और उसे लेकर सर्विस सेंटर भागना पड़ता है या इसकी गति स्लो हो जाती है यानी बहुत धीमा चलने लगता है और इसी समस्याओं को देखते हुए हमने इस पोस्ट को लीखना सुरु ताकि आप सभी का लैपटॉप बार-बार खराब ना होए एवं उसकी स्पीड भी बनी रहे।

लैपटॉप खराब क्यों होता है?

आप सभी पाठकों की कमेंट के अनुसार कोई बोलता है कि ये लैपटॉप जल्दी खराब होता है तो कोई बोलता है कि वो लैपटॉप जल्दी खराब होता है लेकिन हमारे यहां करीब 15 लैपटॉप पिछले 5 साल से चल रहे हैं और सभी अलग-अलग कंपनियों के हैं लेकिन कोई कभी खराब नहीं होता और ना ही स्लो होता है।

लैपटॉप चलाने का एवं उसकी देखरेख का तरीका सही होना चाहिए फिर आप चाहे किसी भी कंपनी का लैपटॉप चलाओ और कितना भी रगड़ के चलाओ वो जल्दी खराब नहीं होगा और स्लो भी नहीं होगा और इन्हीं को हम इस पोस्ट में आपके साथ शेयर करने वाले हैं।

अगर आप यहां पर बताए गए सावधानियो को ध्यान में रखकर अपना लैपटॉप को चलाते हैं तो वो ना हीं जल्दी खराब होगा और ना ही स्लो होगा बल्कि कई सालों तक आपका लैपटॉप बिल्कुल नया के ही तरह चलता रहेगा।

लैपटॉप स्लो क्यों हो जाता है?

ज्यादातर लैपटॉप स्लो इसलिए होता है क्योंकि हमें अपने फाइलों का रखरखाव का तरीका सही नहीं होता है। जब हम नया लैपटॉप लेते हैं तो उसमें फाइल रखने के लिए सिर्फ C ड्राइव होता है और हम उसका पार्टीशन किए बिना उसी में अपने सभी फाइल को रखना शुरू कर देते हैं।

जब भी नया लैपटॉप लें तो उसमें फाइल रखने के लिए स्टोरेज डिस्क अलग बना लें और उसका अलग-अलग पार्टीशन कर लें और उसमें अपना अलग-अलग फाईल रखा करें।

C ड्राइव को सिर्फ काम करने के लिए रखें ऐप ओपन होते समय इसका इस्तेमाल होता है। बाकी काम करने के बाद जो भी फाइलें बनती है उसको रखने के लिए अलग-अलग पार्टीशन जो बनाए हैं उसमें रखा करें।

और अगर आप ऐसा नहीं कर रहे हैं एवं C में ही काम भी कर रहे हैं और उसी में सभी फाइलों को भी रख रहे हैं तो ये आपके लैपटॉप का स्लो होने का सबसे बड़ा कारण होता है।

इसके अलावा बहुत से लोग डेस्कटॉप पर ही इतना ज्यादा फाइल रखते हैं कि पूरा डेस्कटॉप उनका भरा होता है ये भी आपके लैपटॉप को स्लो होने का एक बड़ा कारण है।

हम आपको यही सलाह देते हैं कि डेस्कटॉप पर सिर्फ जरूरी फाइलें ही रखा करें जिसे बार-बार प्रयोग होता है बाकी सभी फाइलों को अन्य ड्राइव में सेव करके रखें एवं उसका शॉर्टकट को ही डेस्कटॉप पर रखें।

आप अपने डेस्कटॉप पर कितना भी शॉर्टकट बना कर रखेंगे उसका भार आपके लैपटॉप पर नहीं पड़ेगा क्योंकि वो मेंन फाइल किसी अन्य ड्राइव में होती है और डेस्कटॉप पर सिर्फ उसका शॉर्टकट होता है।

अगर आप अपने डेस्कटॉप को खाली करके रखेंगे तो आपका लैपटॉप बेहतर ढंग से काम करेगा एवं स्लो भी नहीं होगा।

ये भी पढ़ें:- अपने स्मार्टफोन का बैटरी का क्षमता एवं लाइफ दोनों बढ़ाएं

धूप एवं धूल से बचाए – Laptop Safety Tips

हमने बहुत से लोगों को देखा है कि वो धूप सेकने के चक्कर में कहीं भी धूल मिट्टी में अपना लैपटॉप को लेकर काम करने बैठ जाते हैं एवं बहुत से लोग रजाई के अंदर घुसे हुए ही रजाई के ऊपर अपना लैपटॉप रखकर काम करना शुरू कर देते हैं।

लेकिन जितना नुकसान आपके लैपटॉप को धूप एवं धूल करते हैं उतना ही नुकसान उबर खाबर जगह पर रखने से आपके लैपटॉप को होता है। रजाई या तोषक पर लैपटॉप को रखने से वो समतल नहीं हो पता है और इधर-उधर हिलता ढूंढता रहता है जो कि आपके लैपटॉप के सेहत के लिए नुकसानदायक है।

लैपटॉप भी इंसानों के ही तरह श्वास लेता है एवं छोड़ता है वो दाहिने या बाएं से हवा खींचता है एवं दूसरी तरफ से हवा निकलता है इससे लैपटॉप अपने आप को ठंडा करने में मदद करता है।

इसलिए लैपटॉप को थोड़ी ऊंचाई पर रखकर काम किया करें जैसे टेबल या लैपटॉप के लिए स्टैंड आते हैं अगर आप बिस्तर पर भी बैठ कर काम करना चाहते हैं तो उसी स्टैंड का इस्तेमाल करें।

लैपटॉप के लिए आप एक कुलींगपैड ला सकते हैं इससे फायदा ये होगा कि भले ही आप कूलिंगपैड में फैन नहीं चलाएंगे फिर भी वो इतनी ऊंचाई पर रहेगा की उसको हवा मिलता रहेगा ताकि उसमें लगा फैन साफ हवा अपने अंदर खींच सके।

समय-समय पर सर्विसिंग कराते रहें

अगर आप लैपटॉप को कई सालों तक बिना खराब हुए और बिना स्लो हुए अच्छा तरीके से चलाना चाहते हैं तो फिर इसे 1 साल में कम से कम एक बार सर्विस के लिए जरूर दिया करें।

भले ही फ्री सर्विस खत्म हो जाए तो भी पेड सर्विस करायें इससे आपका लैपटॉप का सेहत तंदुरुस्त बना रहेगा। लेकिन ध्यान रहे आपका लैपटॉप जिस कंपनी का है उसी कंपनी के सर्विस सेंटर में जाएं लोकल दुकान पर ना दिया करें।

अगर आप खुद से लैपटॉप की बॉडी को खोलकर किसी अच्छा सा ब्रुश से उसमें लगे छोटे-छोटे छिद्रों की सफाई कर सकते हैं तो हर 4 से 6 महीने पर ऐसा किया करें इससे उसके छिद्र खुले रहेंगे और पूरी तरह से लैपटॉप के अंदर हवा जाया करेगा जिससे वो गर्म नहीं होगा और आपका लैपटॉप खराब नहीं होगा।

ये भी पढ़ें:- लाइव ट्रेन देखने वाला ऐप डाउनलोड करें Latest 2024

एसडी कार्ड या पेन ड्राइव डायरेक्ट ना निकलें

मैंने बहुत से लोगों को देखा है कि वो अपने लैपटॉप में एसडी कार्ड या पेन ड्राइव लगाते हैं और काम होने के बाद डायरेक्ट ही उसे खींच कर निकाल लेते हैं लेकिन ऐसा करने से आपका एक्सटर्नल डिवाइस भी खराब हो सकता है और लैपटॉप के ऊपर भी बुरा असर पड़ता है।

एसडी कार्ड या पेन ड्राइव या किसी भी अन्य एक्सटर्नल डिवाइस को अपने लैपटॉप से बिना एग्जिट किए खींचकर निकाल लेने से आपके लैपटॉप के अंदर C ड्राइव में फालतू की फाइलें रह जाती है वो ना तो पेन ड्राइव में जा पाती है और ना हीं डिलीट हो पाती है वो आपके लैपटॉप में ही जमा होती रहती है।

अगर आप ऐसे लगातार करते हैं तो फिर आपके लैपटॉप के स्पीड पर बुरा प्रभाव पड़ता है और वो धीरे-धीरे स्लो होता जाता है इसलिए एक्सटर्नल डिवाइस को निकालने से पहले उसे Eject किया करें और तभी निकालें।

लैपटॉप की बैटरी खराब होने पर तुरंत बादलवांयें

हमने बहुत से लोगों को देखा है कि उनकी लैपटॉप की बैटरी बिल्कुल ही खराब हो जाती है फिर भी वो उसे हमेशा बिजली में लगाकर चलाते रहते हैं लेकिन ये सही बात नहीं है।

एक लैपटॉप की बैटरी 1 साल तक अच्छा कंडीशन में चलता है लेकिन जब वो खराब हो जाए तो उसे जरूर बदलवाया करें क्योंकी बैटरी सिर्फ उसे बैकअप ही नहीं देता बल्कि सभी तरह के सप्लाई को कंट्रोल करने का काम भी करता है।

और अंत में

इस पोस्ट में हमने सीखा की एक लैपटॉप को कई सालों तक स्वस्थ रखने यानी उसे बिना खराब हुए और बिना स्लो हुए चलाने के लिए हमें क्या-क्या करना चाहिए।

अगर आप यहां पर बताए हुए सभी प्रक्रियाओं को फॉलो करते हैं तो आपका लैपटॉप कई सालों तक यानी 5 साल से भी ज्यादा समय तक बिल्कुल नया के जैसे ही चलता रहेगा और बार-बार खराब होने की झंझट से आप बचे रहेंगे।

अगर आपको ये पोस्ट हेल्पफुल या महत्वपूर्ण लगा तो कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर अपना प्रतिक्रिया जरुर दें और अगर कोई सवाल या सुझाव है तो वो भी लिखें।

ये भी पढ़ें:- Voice Cloning: सावधान आपके बच्चे का नकली आवाज बनाया जा रहा है, ये है बचने का तरीका

Leave a Comment