2021 Me Ram Navami Kab Hai – Ram Navami का महत्व

2021 Me Ram Navami Kab Hai भारत में हिंदू धर्म में रामनवमी का पर्व चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के नवमी को मनाते हैं, क्योंकि इसी दिन मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम जी धरती पर जन्म लिए थे और श्री राम के जन्म की खुशी में ही रामनवमी का त्यौहार समस्त देशवासी के लोग मनाते हैं।

चैत्र मास हिंदू पंचांग में पहला महीना होता है और इसी महीने में फसल कटते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार नौवें दिन को नवमी कहते हैं एवं महीने में नवमी दो बार आता है पहला पूर्णिमा के बाद और दूसरा अमावस्या के बाद। जब पूर्णिमा के बाद नवमी आता है तो इसे कृष्ण पक्ष की नवमी कहा जाता है और जब अमावस्या के बाद नवमी आता है तो इसे शुक्ल पक्ष की नवमी कहा जाता है।

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि 2021 Me Ram Navami Kab Hai साथ ही HoLi के बाद मनाया जाने वाला इस त्यौहार रामनवमी का महत्व एवं प्रभु श्री राम के अवतार का उद्देश्य और इस त्यौहार का इतिहास के बारे में भी जानकारी लेंगे।

2021 Me Ram Navami Kab Hai

ram navami kab hai
ram navami kab hai

इस बार Ram Navami 21 अप्रैल 2021 बुधवार को पड़ रहा है। रामनवमी हर साल चैत्र मास की शुक्ल पक्ष के नवमी को ही पड़ता है लोग इस दिन को प्रभु श्री राम के जन्म दिवस के रूप में मनाते हैं। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम इसी दिन पुनर्वसु नक्षत्र एवं कर्क लग्न में जन्म लिए थें।

Loading...

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम चंद्र जी माता कौशल्या के कोख से जन्म लिए थे और वो दिन चैत्र मास की शुक्ल पक्ष था एवं लग्न था पुनर्वसु नक्षत्र एवं कर्क। 2021 में रामनवमी 21 अप्रैल 2021 बुधवार को मनाया जाएगा।

श्री राम अवतार का उद्देश्य

हिंदू धर्म में शास्त्रों के अनुसार आज से हजारों या लाखों साल पहले त्रेता युग में एक आताताई राक्षस रावण हुआ करता था जिसके अत्याचार से पूरी पृथ्वी के लोग त्रस्त थे इसी राक्षस से लोगों को मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से रामावतार यानी श्री रामचंद्र जी का जन्म पृथ्वी पर हुआ था।

श्री रामचंद्र जी विष्णु के अवतार थे, भगवान विष्णु रावण के अत्याचारों से लोगों को मुक्त कराने के लिए ही मृत्यु लोक यानी धरती पर श्री रामचंद्र जी के रूप में अवतार लिए थे और फिर उन्होंने रावण का संहार करके धरती पर एक बार फिर से धर्म की स्थापना की थी।

Ram Navami का महत्व

हिंदू धर्म में रामनवमी का बहुत बड़ा महत्व है इस त्यौहार को लोग पूरी आस्था के साथ मनाते हैं रामनवमी त्योहार के साथ ही चैत्र नवरात्र समाप्त हो जाता है। इसी दिन प्रभु श्री राम का जन्म हुआ था इसलिए लोग श्री राम जी के जन्मदिन के रूप में इस त्यौहार को धूमधाम से मनाते हैं।

Loading...

पिछले हजारों सालों से भारत में रामनवमी का त्यौहार लगातार मनाया जा रहा है इस बार भी सन 2021 में 21 अप्रैल बुधवार को ये त्यौहार मनाया जाएगा। भगवान विष्णु का धरती पर ये सातवां अवतार मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के रूप में हुआ था।

Ram Navami Ka Itihas

अयोध्या राज्य के राजा दशरथ की तीन बेटियां थी लेकिन लंबे समय तक राजा दशरथ को संतान सुख की प्राप्ति नहीं हुई और ऐसे में राजा दशरथ बहुत दुखी रहते थे।

एक दिन राजा दशरथ ऋषि वशिष्ठ के पास गए और उन्होंने अपना हाल कह सुनाया ऋषि वशिष्ट ने राजा दशरथ को कमेष्टी यज्ञ करने की सलाह दीये, फिर राजा दशरथ महर्षि रुसया सरुंगा से ये यज्ञ पूरा करवाया और यज्ञ पूरा होते ही महर्षि ने राजा दशरथ के तीनों रानियों को एक एक कटोरी खीर खाने के लिए दी।

तीनों रानियों ने महर्षि के द्वारा दी गई खीर खाई और फिर कुछ ही महीने बाद तीनों रानियों का गर्भ ठहर गया और फिर नौवें महीने में बड़ी रानी कौशल्या के गर्भ से मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम जी जन्म लिए।

Loading...

बाकी के दूसरे और तीसरे रानीयों को भी पुत्र की प्राप्ति हुई कैकयी के गर्व से भारत जन्में एवं रानी सुमित्रा ने जुड़वा बच्चा जन्म दिया लक्ष्मण एवं शत्रुघ्न को और पूरे राज्य समेत पूरा देश में खुशियों का लहर चल पड़ा।

राम, लक्ष्मण, भरत एवं शत्रुघ्न इन चारों भाइयों का जन्म चैत महीने में शुक्ल पक्ष की नवमी को हुआ और तभी से समस्त देशवासी चैत मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को रामनवमी का त्यौहार मनाते हैं।

ram navami puja vidhi

रामनवमी पूजा का एक बहुत बड़ा महत्व होता है बहुत से लोग इस दिन व्रत रखते हैं। रामनवमी पूजा में प्रभु श्री राम माता सीता एवं लक्ष्मण के मूर्तियों पर जल, रोली एवं लेपन चढ़ाकर पूजा किया जाता है।

रामनवमी पूजा में चावल भी चढ़ाया जाता है एवं पूजा के आखिरी में आरती उतारी जाती है इस पूजा के समापन होने पर मां दुर्गा के नवरात्रों का भी समापन हो जाता है।

किसी भी पूजा का मतलब ये होता है कि हम भगवान को प्रसन्न करने के लिए उनका अभिनंदन करते हैं पूजा हमारे जीवन को शांतिपूर्ण बनाने का काम होता है। किसी भी पूजा में पुष्प एवं जल समर्पित किए जाते हैं एवं अलग-अलग पूजा में अलग-अलग श्लोक भी पढ़ा जाता है।

ये भी पढ़ें
Makar Sankranti 2021 Kab Hai

Diwali Ka Mahatva Kya Hai

2021 Me Ram Navami Kab Hai

हम आपको एक बार फिर से बता दें 2021 में रामनवमी का त्यौहार चैत्र के महीने में शुक्ल पक्ष के नवमी को मनाया जाएगा। हमें उम्मीद है ये पोस्ट 2021 Me Ram Navami Kab Hai को पढ के आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा।

Loading...

अगर आपके पास अभी भी इस पोस्ट Ram Navami Puja Date से संबंधित कोई सवाल बाकी है या आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बताना ना भूलें।

Leave a Comment