वेब स्टोरी वायरल कैसे करें Web Stories Viral Tricks

इस पोस्ट में हम Web Stories Viral Tricks के बारे में जानेंगे क्योंकि बहुत से पाठक हमसे पूछ रहे हैं कि वेब स्टोरी वायरल कैसे करें।

अगर आप भी वेब स्टोरी बना रहे हैं या बनाने की सोच रहे हैं तो इसके बारे में आपके पास अच्छी तरह से जानकारी होनी चाहिए।

तभी आपके द्वारा पब्लिश किया गया वेब स्टोरी चलेगा और उसे डिस्कवर फिड में दिखाया जाएगा।

एक अच्छा वेब स्टोरी वो होता है जो गूगल के नियमों के अनुसार बनाया गया होता है तभी वो वायरल होता है।

इस पोस्ट में हम बताएंगे कि आपका वेट स्टोरी कैसा होना चाहिए, गूगल के द्वारा बताए गए क्या नियम है जिस को फॉलो करना चाहिए।

और इसके लिए इमेज की साइज कितनी होनी चाहिए पोस्टर इमेज का डायमेंशन क्या होना चाहिए एवं कौन से प्लगइन का इस्तेमाल करना चाहिए इत्यादि।

हमें पूरा आशा है कि इस पोस्ट Web Stories Viral Tricks को पढ के आपके सवाल वेब स्टोरी वायरल कैसे करें का जवाब मिल जाएगा।

वेब स्टोरी क्या है? What is Web Stories

जब आप अपने मोबाइल में गूगल का ऐप या क्रोम ब्राउजर को ओपन करते हैं कुछ सर्च करने के लिए तो नीचे Discover Feed में पोस्ट दिखाई देते हैं।

लेकिन उन्ही पोस्ट के बीच बीच में बड़ा सा थंब नेल के साथ वेब स्टोरी भी दिखती है।

वेब स्टोरी सिर्फ इमेज एवं वीडियो के द्वारा बनाए जाते हैं। उसी इमेज पर लिखकर किसी चीज के बारे में बताया गया होता है।

एक वेब स्टोरी में 5 से 30 इमेज तक हो सकते हैं जिसके ऊपर क्लिक करके अगला इमेज को देखा जाता है।

अगर आप अपने क्रोम ब्राउजर या गूगल के सर्च एप में Discover Feed नहीं देख पा रहे हैं तो हो सकता है आपने इसे ऑफ कर दिया हो।

डिस्कवर फिड को ऑन करने के लिए आप अपने क्रोम ब्राउज़र को ओपन करें, और Discover के सामने गोल चकरी सेटिंग्स के आइकन पर क्लिक करें और फिर Turn On के बटन पर क्लिक करें।

अब आप देखेंगे कि नीचे पोस्ट लोड होने लगता है और उसी में कहीं-कहीं वेब स्टोरी भी होते हैं जो नीचे दिखाए गए चित्र के अनुसार दिखते हैं।

वेब स्टोरी वायरल कैसे करें?

कोई भी वेब स्टोरी, पोस्ट या फोटो वीडियो वायरल कैसे होता है इसके लिए तीम चरण होते हैं पहला-

1. पहला चरण में आप अपना वेब स्टोरी, फोटो, वीडियो या Post Publish करते हैं।

2. दूसरा चरण में आपके द्वारा पब्लिश किया गया सामग्री को गूगल 100 लोगों के सामने भेजता है।

3. तीसरा चरण में जब उन 100 लोगों में ज्यादा से ज्यादा लोग आपके सामग्री पर अपना प्रतिक्रिया अच्छा से देते हैं और उसे अच्छा से देखते हैं तो फिर अगली बार गूगल आपके सामग्री को 1000 लोगों के सामने भेजता है।

4. चौथा चरण में जब उस एक हजार इंप्रेशन पर अच्छा प्रतिक्रिया आता है तो फिर गुगल अगली बार 10000 लोगों के सामने आपके सामग्री को भेजता है।

और ऐसे करके लाखों एवं करोड़ों लोगों के सामने आपके सामग्री को भेजा जाता है और इसी को सामग्री वायरल होना बोलते हैं।

वहीं दूसरी ओर जब आपने अपना सामग्री को पब्लिश किया और गूगल ने 100 लोगों के सामने भेजा और उसमें बहुत खराब प्रतिक्रिया आई यानी कि ज्यादा लोगों ने नहीं देखा तो फिर आप की सामग्री वही ठप्प हो जाती है आगे नहीं बढ़ पाती है।

इसलिए आपको अपना वेब स्टोरी को इस तरीके से बनाना है जिस पर ज्यादा से ज्यादा प्रतिक्रिया आवे और तभी google उसे आगे के तरफ सजेस्ट करता जाएगा और आपका वेब स्टोरी वायरल हो पायेगा।

Web Stories Viral Tricks

अब हम एक Web Stories के लिए Viral Tricks बता रहे हैं जिसमें एक अच्छा वेब स्टोरी डिजाइन करने से लेकर गूगल के कांटेक्ट पॉलिसी भी शामिल है।

अगर आप चाहते हैं कि आप एक Valid Web Stories बनाएं जो इंडेक्स भी होए और वायरल भी हो तो इसके लिए नीचे बताए गए सभी चरणों को ध्यान से पढ़ें।

एक अच्छा वेब स्टोरी कैसे बनाएं?

सबसे पहले आप एक छोटा-मोटा सीखने के लिए WordPress Blog बनाएं और वेब स्टोरी के लिए गूगल का ऑफिशियल प्लगइन Web Stories का इस्तेमाल करके सीखना शुरू।

एक अच्छा वेब स्टोरी के लिए कहानी से लेकर डिजाइन SEO एवं टेक्निकल सभी चीजों का ध्यान रखना होता है।

नीचे हम एक अच्छा वेब स्टोरी के लिए कुछ बातें बता रहे हैं जिसे आप फॉलो करें।

1. कहानी

आप अपने वेब स्टोरी में इमेज और शब्दों के अलावा वीडियो का भी इस्तेमाल किया करें क्योंकि वीडियो आपके यूजर को बांध करके रखता है।

लेकिन ध्यान रहे वेब स्टोरी में डाला गया वीडियो का लंबाई 60 सेकंड से ज्यादा नहीं होना चाहिए नहीं तो आपका वेब स्टोरी इंडेक्स नहीं होगा।

वेब स्टोरी को ऐसा बनाएं ताकि यूजर एक पेज से दूसरा और दूसरा पेज से तीसरा ऐसे कर के लास्ट तक देखें बीच में छोड़कर ना भागे।

2. Web Stories Design

वेब स्टोरी का पेज डिजाइन करते समय एक पेज पर 280 कैरेक्टर्स से ज्यादा इस्तेमाल ना करें नहीं तो आपका स्टोरी इंडेक्स नहीं हो पाएगा।

वेब स्टोरी के पेज पर लिखा गया शब्द उभरकर आना चाहिए ताकि पाठकों को पढ़ने में दिक्कत ना होए इसके लिए एक अच्छा सा उचित बैकग्राउंड को चुने।

या फिर आप अपने बैकग्राउंड पर कोई रेक्टेंगल बनाकर उसके ऊपर लिखे ताकि शब्द उभर कर आवे।

आप अपने वेब स्टोरी के पेज पर शब्दों एवं चित्र को एनिमेशन दें ताकि देखने में अच्छा लगे। लेकिन ऐसे एनिमेशन ना डालें जिससे देखने या फिर पढ़ने में दिक्कत होवे।

इसके अलावा उच्च क्वालिटी छवियों का इस्तेमाल करें जिसे जूम करने पर पिक्सेल फटे नहीं।

आप अपने वेब स्टोरी पर हाई क्वालिटी का LOGO डालें। वेब स्टोरी के सेटिंग्स में जाकर भी अपना ब्लॉग का LOGO अपलोड कर देवें।

अपने वेब स्टोरी के पेज पर कम से कम 15 सेकंड और ज्यादा से ज्यादा 60 सेकंड का वीडियो भी डालें।

साथ ही आप चाहें तो अपने वेब स्टोरी के में कम से कम 5 सेकंड का ऑडियो भी डाल सकते हैं लेकिन आवाज का ध्यान रखें।

3. SEO

SEO के तौर पर आप अपने वेब स्टोरी में टैग डाल सकते हैं साथ ही आप अपने वेब स्टोरी को आकर्षक बनाएं ताकि आपके पाठक आप से जुड़े रहे।

वेद स्टोरी के टाइटल को ज्यादा से ज्यादा 90 कैरक्टर्स रखें वैसे 70 कैरक्टर्स बेस्ट होता है।

वेब स्टोरी में इस्तेमाल किए गए इमेजेस में Alt Text डाला करें इससे वो इमेज सर्च इंजन में भी रैंक करने लगते हैं।

आप अपने बेबी स्टोरी को अपने वेबसाइट के दूसरे पेज से भी लिंक कर सकते हैं या फिर जिस कैटेगरी में स्टोरी बना रहे हैं उस केटेगरी को भी लिंक कर सकते हैं।

आप जिस विषय पर वेब स्टोरी बना रहे हैं उस विषय से संबंधित कोई पोस्ट लिख रखे हैं तो उस पोस्ट को भी अपने स्टोरी में लिंक कर सकते हैं।

4. Technical

आप अपने वेब स्टोरी को बनाने के बाद इसे गूगल के टुल AMP Validator पर चेक किया करें और कोई समस्या दिखने पर उसका समाधान करें।

वेब स्टोरी के लिए पोस्टर इमेज का साइज 640 गुणा 853 पिक्सल रखें जिसका ratii 3:4 होना चाहिए।

आप अपने वेब स्टोरी पर ब्लॉग का LOGO भी डाला करें जो 96 गुना 96 पिक्सेल का हो और इसका ratio 1:1 हो।

आप चाहे तो गूगल के द्वारा बताया गया वेब स्टोरी को डिजाइन करने का निर्देश को यहां से पढ़ सकते हैं। Best practices for creating Web Stories

अपना वेब स्टोरी को वायरल करने के लिए ऊपर बताए गए सभी चरणों का पालन करें।

अब हमें वेब स्टोरी के लिए गूगल के द्वारा बताया गया Content Policies समझना चाहिए क्योंकि अगर आप इसे उल्लंघन करते हैं तो हो सकता है आपकी पूरी वेबसाइट सर्च इंजन से दूर हो जाए।

वेब स्टोरी के लिए गूगल का Content Policies जानें

आपका वेब स्टोरी तभी वायरल होगा जब आप गूगल के द्वारा बताया गया कॉन्टेंट की पॉलिसी को फॉलो करेंगे।

गूगल के द्वारा जारी किया गया वेब स्टोरी के लिए Content Policies को हम नीचे हिंदी में सरल भाषा में बता रहे हैं इनको आप अपना स्टोरी बनाते समय जरूर फॉलो करें।

1. Copyright Content

गूगल का कहना है कि आप स्टोरी बनाते समय उसमें दूसरों की सामग्री का इस्तेमाल उनके अनुमति के बिना ना करें जैसे फोटो, विडियो या लिखा गया शब्द सामग्री इत्यादि।

कई सारी वेबसाइट जैसे Pixabay, Pexels या Unsplash इत्यादि का इस्तेमाल आप अपने वेब स्टोरी के लिए फ्री इमेज और वीडियो के लिए कर सकते हैं।

2. एक पेज पर कितना शब्द डालें

एक वेब स्टोरी में 5 से लेकर 20 या फिर 30 पेज हो सकते हैं। लेकिन एक पेज पर आप ज्यादा से ज्यादा 180 शब्द डालें।

अगर आप वेब स्टोरी के एक पेज पर 180 शब्द से ज्यादा डालते हैं तो फिर आपका वो स्टोरी इंडेक्स नहीं होगा और इंडेक्स हो भी गया तो फिर चलेगा नहीं।

वेब स्टोरी में 60 सेकंड तक का ही वीडियो डालें इससे ज्यादा लंबाई वाला वीडियो ना डालें नहीं तो वो इंडेक्स नहीं होगा।

3. उच्च क्वालिटी के फोटो और वीडियो डालें

आप अपने वेब स्टोरी में उच्च क्वालिटी के फोटो एवं वीडियो को डाला करें। जिस फोटो को जूम करने पर पिक्सेल फट जा रहा है वो निम्न क्वालिटी का फोटो होता है।

फोटो को इतना ज्यादा कंप्रेस ना करें कि उसकी क्वालिटी डाउन हो जाए। ऐसा इमेज वेब स्टोरी को चलने नहीं देगा या इंडेक्स नहीं होने देगा।

4. जानकारी का अभाव

आप अपना वेब स्टोरी ऐसे बनाएं जिसको शुरू से अंत तक पढ़ने के बाद लोगों को उनके सवालों का जवाब मिले।

ऐसा नहीं कि एक पेज पर आपने कुछ और बताया और दूसरे पेज पर कुछ और बताने लग गए। इससे कोई भी कहानी पूरी नहीं होती है और ऐसे स्टोरी इंडेक्स नहीं हो पाते हैं।

5. अधूरा सामग्री

जिस तरह से आप कोई पोस्ट लिखते हैं तो उसमें उस विषय से संबंधित पूरी जानकारी देते हैं वैसे ही आपको वेब स्टोरी भी बनाना है।

कुछ लोग वेब स्टोरी में अधूरी जानकारी डालकर उस स्टोरी को पूरा कर देते हैं लेकिन उसे पढ़कर यूजर को उनके सवालों का जवाब नहीं मिल पाएगा।

अधूरी वेब स्टोरी में आप का भी समय बर्बाद होगा और वो इंडेक्स नहीं हो पाएगा जिसके फलस्वरूप आपके हाथ कुछ नहीं लगेगा।

6. वेब स्टोरी में प्रोडक्ट का प्रचार ना करें

आप अपने वेब स्टोरी में पूरे के पूरे पेज पर एक ही प्रोडक्ट को बहुत ज्यादा बढ़ा चढ़ा कर ना बताएं। इससे ऐसा लगेगा कि आपने उस प्रोडक्ट का प्रचार करने के लिए ही वेब स्टोरी बनाया है।

वेब स्टोरी को इनफॉर्मेटिव बनाएं प्रचार करने के मकसद से ना बनाएं क्योंकि वो इंडेक्स ही नहीं होगा और अगर इंडेक्स हो भी गया तो वो आगे चलकर दिक्कत पैदा कर सकता है।

वेब स्टोरी के लिए गूगल का Content Policies को यहां से पढ़ें।

Poster image और Cover Page में क्या अंतर है

वेब स्टोरी में पोस्टर इमेज आपके स्टोरी की पैकेजिंग होता है जो डिस्कवर सेक्शन में दिखता है। लेकिन जैसे ही आप उस स्टोरी को ओपन करते हैं वैसे ही कवर पेज दिखना शुरू हो जाता है।

एक बार वेब स्टोरी को ओपन कर लेने के बाद पोस्टर इमेज को आप देख नहीं पाते हैं फिर आपको कवर पेज ही दिखता है।

फिर कवर पेज के बाद स्टोरी के अन्य पेज दिखते हैं इसलिए हमें पोस्टर इमेज और कवर पेज को हाई क्वालिटी बनाना चाहिए क्योंकि इससे यूजर हमारे स्टोरी पर आकर्षित होकर देखना शुरु करते हैं।

वैसे स्टोरी के सभी पेज हाई क्वालिटी में ही होना चाहिए लेकिन पोस्टर इमेज और कवर पेज को थोड़ा ज्यादा आकर्षक बनाना होता है।

अगर हम आसान भाषा में समझे तो पोस्टर इमेज पाठक को सामग्री का पुर्वालोकन देता है यानी बताता है कि इस स्टोरी के अंदर क्या बताया गया है।

स्टोरी को ओपन करने के बाद पहला पेज कवर पेज कहलाता है और फिर बाकी के पेज स्टोरी पेज होता है।

पोस्टर इमेज में इमेज एवं शब्दों का प्रयोग किया जाता है इसमें आप वीडियो या एनिमेशन का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

कवर पेज हमारा वेब स्टोरी का लैंडिंग पेज होता है जिसे यूजर सबसे पहले देखता है।

पोस्टर इमेज और कवर इमेज को लगभग एक जैसा ही रखना चाहिए ताकि जब यूजर उस पर क्लिक करके आपके स्टोरी को ओपन करें तो उनको ऐसा न लगे कि वो गलती से कोई और लिंक पर क्लिक कर दिए हैं।

Q. Web Stories Poster Image Size

जिस तरह से आप अपने यूट्यूब वीडियो पर एक अलग से थंबनेल लगाते हैं ताकि ब्राउज़र फीचर या अन्य जगहों पर वो थंबनेल ही दिखे उसी तरह से वेब स्टोरी में एक पोस्टर इमेज लगाया जाता है।

अगर आप अपने वेब स्टोरी को गूगल के ऑफिशियल प्लगइन के द्वारा डिजाइन कर रहे हैं तब तो आप स्टोरी के पेज को वर्डप्रेस पर ही डिजाइन कर सकते।

लेकिन पोस्टर इमेज को बाहर से ही डिजाइन करके अपलोड करना होता है।

वेब स्टोरी पोस्टर इमेज का साइज 640×853 पिक्सेल होता है और ये 3:4 Ratio में होता है।

कोरल ड्र या अन्य सॉफ्टवेयर पर पोस्टर इमेज को डिजाइन करने से पहले अपना पेज का लंबाई 853 पिक्सल करें और चौड़ाई 640 पिक्सल।

Q. Web Stories LOGO Size

आप अपने वेब स्टोरी पर अपलोड करने के लिए ब्लॉग के LOGO का साइज 96×96 पिक्सेल रखें। और इसका ratio 1:1 होता है।

Q. Web Stories के लिए Best Plugin

वेब स्टोरी के लिए सबसे बेस्ट प्लगइन गूगल का ऑफिशियल Web Stores Plugin है जो आपको वर्डप्रेस पर ही मिल जाएगा।

और अंत में

तो हमने यहां पर Web Stories Viral Tricks के बारे में जाना और ये सीखा कि एक वेब स्टोरी को वायरल कैसे करें।

हमें उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़कर आप वेब स्टोरी के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर चुके हैं। आप अपना प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

1 thought on “वेब स्टोरी वायरल कैसे करें Web Stories Viral Tricks”

Leave a Comment